July 25, 2024

TNC Live TV

No.1 News Channel Of UP

Basti News: गिरफ्तारी के आश्वासन पर दूसरे दिन शव का अंतिम संस्कार

पहले पोस्टमार्टम बाद में अंतिम संस्कार को लेकर हुई काफी माथा-पच्ची

कप्तानगंज क्षेत्र के चनईपुर में मारपीट में घायल युवती की मौत का मामला

बस्ती। पुलिस व प्रशासन की काफी पैरवी व आरोपियों की गिरफ्तारी के आश्वासन के बाद कप्तानगंज थाना क्षेत्र के चेनईपुर की युवती के परिवार के लोगों ने बुधवार को शव का अंतिम संस्कार कर दिया। मंगलवार को पोस्टमार्टम कराने के लिए भी पुलिस को एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ा था। बाद में शव लेकर घर जाने के बाद अंतिम संस्कार न करने पर अड़ गए थे। एसपी गोपाल कृष्ण चौधरी ने बताया कि दोनों पक्षों की तरफ से केस दर्ज है। सभी पहलुओं की गहनता से छानबीन कराई जा रही है, जो फैक्ट सामने आएंगे उसी हिसाब से कार्रवाई की जाएगी।

कप्तानगंज थाना क्षेत्र के चेनईपुर गांव में सोमवार की सुबह गांव के हन्नूलाल व रामकृपाल के घर के बच्चों के बीच में मामूली बात पर विवाद हो गया। इसके बाद दोनों पक्षों के अन्य लोगों में पहले कहासुनी हुई। इसके बाद मामला मारपीट में तब्दील हो गया। पहले लाठी-डंडे से मारपीट हुई। फिर दोनों पक्षों ने घर पर चढ़कर एक-दूसरे पर ईंट-पत्थर चलाए।

घटना में दोनों पक्षों से कई लोग घायल हो गए। घायलों को तत्काल कप्तानगंज सीएचसी पहुंचाया गया। यहां पर प्राथमिक इलाज के बाद हन्नू लाल को गंभीर हालत में जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। वहां पर भी स्थिति सामान्य नहीं होने पर हन्नू लाल को मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। जहां उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

इधर, मारपीट की घटना में घायल 22 वर्षीय लक्ष्मी पुत्री रामकृपाल को मंगलवार को दोपहर बाद कप्तानगंज सीएचसी लाया गया। इलाज के बाद लक्ष्मी को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। इलाज के दौरान रात में उसकी जिला अस्पताल में मृत्यु हो गई। सोमवार सुबह हुई इस घटना में पुलिस ने एक पक्ष की तरफ से दिए तहरीर के आधार पर मारपीट सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया। लक्ष्मी की मृत्यु की सूचना के बाद परिजन शव को लेकर कप्तानगंज थाने गए।

उधर, शव का अंतिम संस्कार होते ही पुलिस ने युवती के परिवार की महिलाओं व अन्य लोगों से जहर वाले बिंदु पर पूछताछ की। हालांकि, आधिकारिक तौर पर पुलिस सिर्फ जांच की बात कर रही है। उधर, युतती के परिवार के लोगों ने गिरफ्तारी का दबाव बनाने की भरसक कोशिश की, लेकिन पुलिस यह तस्दीक करने में जुटी है कि आखिर युवती के जहर खाने के पीछे कहानी क्या है।

जहर खाने की बात से उलझी मिस्ट्री
युवती के जहर खाने की बात सामने आने के बाद पुलिस के सामने नई चुनौती खड़ी हो गई है। मारपीट के इस मामले में जहर की बात ने केस के रुख को एक अलग दिशा में मोड़ दिया। अब पुलिस के लिए सबसे पहले यह पता करने की चुनौती है कि लक्ष्मी ने खुद जहर खाया या उसे किसी ने खिलाया। उसके परिवार के लोग पहले चोट लगने से मृत्यु बता रहे थे। अब वे आरोप लगा रहे हैं कि दूसरे पक्ष के लोगों ने जबरदस्ती उसे जहर खिला दिया। हालांकि युवती के भाई ने जो तहरीर पुलिस को दी है उसमें इसका जिक्र नहीं है।
..
डीजे पर गाने के लिए हुई थी विवाद की शुरुआत
तीन दिन पहले गांव के राम भेजू के बेटे शिवम की तिलक थी। डीजे पर लोग डांस कर रहे थे। उसी दौरान लक्ष्मी के भाई अमरनाथ और हन्नू के परिवार के एक किशोर से झगड़ा हुआ। अगले दिन उसी बात पर दोनों परिवार वालों में फिर मारपीट हुई। दो-दो बार मारपीट के बावजूद पुलिस को न तो किसी ने खबर की और न ही पुलिस ने खुद के सूचना तंत्र से जानकारी हासिल कर पाई। सोमवार को तीसरी बार जमकर ईंट-पत्थर चले। इसमें हन्नू को गंभीर चोटें आईं और वह कोमा में चले गए। दूसरे पक्ष की लक्ष्मी को दोपहर बाद परिवार के लोग पेट दर्द होने की बात बताते हुए सीएचसी ले गए। वहां से रेफर होने के बाद जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

About The Author

error: Content is protected !!