July 25, 2024

TNC Live TV

No.1 News Channel Of UP

छेड़छाड़ की शिकायत पर नहीं की कार्रवाई, मां-बाप को पीटकर लॉकअप में डाल दिया

चित्रकूट जिले के मऊ थाना क्षेत्र में दसवीं की छात्रा से शोहदे स्कूल जाते समय छेड़छाड़ करते थे। इससे क्षुब्ध छात्रा ने शनिवार को घर में ही फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। बेटी के माता-पिता जब इसकी जानकारी पुलिस को देने पहुंचे, तो उन्हें पीटकर लॉकअप में डाल दिया गया।

मामले में दो शोहदों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। हमारी मित्र पुलिस की यह करतूत मऊ थाना क्षेत्र के गांव में सामने आई। पीड़ित दंपती ने बताया कि उनकी 16 वर्षीय बेटी शंकरगढ़ के एक विद्यालय में हाईस्कूल की छात्रा थी। वह सहेलियों के साथ साइकिल से विद्यालय जाती थी।

 

रास्ते में गांव के ही दो भाई मुन्नीलाल निषाद (22) और रंगीलाल निषाद (20) आए दिन उससे छेड़छाड़ करते थे। दंपती ने बताया कि शनिवार को खेत से लौटते समय रास्ते में दोनों भाइयों ने फिर छेड़छाड़ की। घर आकर बेटी ने इसकी जानकारी दी। रविवार की शाम को परिजन खेत पर थे।
छोटी बहन ने फंदे से लटकता देखा
तभी बेटी ने कमरे में रस्सी से फंदा लगा लिया। कुछ देर बाद कमरे में पहुंची छोटी बहन ने उसे फंदे से लटकता देखा, तो परिजनों को बुलाया। परिजन उसे फंदे से उतारकर सीएचसी लाए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। दंपती ने बताया कि वह लोग घटना की जानकारी देने मऊ थाने पहुंचे थे।
आत्महत्या के लिए उकसाने की रिपोर्ट दर्ज
थाने में मौजूद दरोगा और सिपाहियों ने उनकी पिटाई कर दी। उनका मोबाइल जमीन पर पटक दिया और उन्हें लॉकअप में बंद कर दिया। मामले में सीओ निष्ठा उपाध्याय ने बताया कि आरोपी मुन्नीलाल और रंगीलाल के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने की रिपोर्ट दर्ज की गई है। थाने में मारपीट के आरोपों की भी जांच की जाएगी।

दो बार की शिकायत
दंपती ने बताया कि शोहदे तीन माह से उनकी बेटी के साथ छेड़खानी कर रहे थे। फरवरी और मार्च में इसकी शिकायत थाने में की थी, लेकिन आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। पुलिस की संवेदनहीनता यहीं खत्म नहीं हुई। पुलिस ने दंपती को ही शव के साथ पोस्टमार्टम करवाने के लिए कर्वी भेज दिया, जबकि पोस्टमार्टम कराने की जिम्मेदारी पुलिस की थी।

सीसीटीवी फुटेज की जांच के निर्देश
इस मामले में अपर एसपी चक्रपाणि त्रिपाठी का कहना है कि नियम सबके लिए बराबर हैं। किशोरी के साथ छेड़छाड़ की पुष्टि होने पर धारा बढ़ाई जाएगी। उसके माता-पिता के साथ मारपीट की जानकारी के लिए थाने के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जाएंगे।

मऊ सीओ करेंगे मामले की जांच
पुलिसकर्मियों से भी पूछताछ की जाएगी। यदि पुलिसकर्मी दोषी मिले तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बताया कि इस मामले में एक नामजद आरोपी को जेल भेजा जा चुका है। दूसरे को जल्द पकड़ा जाएगा। सीओ निष्ठा उपाध्याय ने कहा कि मामले की जांच मऊ सीओ करेंगे।

थानाध्यक्ष बोले- छात्रा का आरोपी से था प्रेमप्रसंग
इस मामले में मऊ थाना प्रभारी अजीत पांडेय का कहना है कि छात्रा के साथ एक आरोपी से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। इसके चलते माता-पिता ने डांटा था। इसी से आहत होकर छात्रा ने खुदकुशी की है। बताया कि गांव का रंगीलाल छात्रा के साथ एक ही स्कूल में पढ़ता था।

फरवरी में थाने आए थे दोनों के माता-पिता
बताया कि छात्रा का रंगीलाल के साथ प्रेम प्रसंग था। इसकी जानकारी दोनों के माता-पिता को थी। फरवरी में दोनों के माता-पिता थाने आए थे। थाने में समझौता कराया गया था। पिता ने रंगीलाल को बाहर भेज दिया था। कुछ दिन पहले ही वह गांव आया था।

किशोरी के साथ छेड़छाड़ की पुष्टि होने पर धारा बढ़ाई जाएगी। उसके माता-पिता के साथ मारपीट की जानकारी के लिए थाने के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जाएंगे। पुलिस कर्मियों से भी पूछताछ की जाएगी।  -चक्रपाणि त्रिपाठी, एएसपी

रंगीलाल और छात्रा एक ही स्कूल में पढ़ते थे। छात्रा का रंगीलाल के साथ प्रेम प्रसंग था। इसकी जानकारी दोनों के माता-पिता को थी। फरवरी में दोनों के माता-पिता थाने आए थे। थाने में समझौता कराया गया था। प्रेम प्रसंग को लेकर माता-पिता ने छात्रा को डांटा था। इसी से आहत होकर उसने खुदकुशी की है।  -अजीत पांडेय, मऊ थाना प्रभारी

About The Author

error: Content is protected !!